You are currently viewing श्री नवग्रह  यन्त्रम | Shri Navgrah Yantra

श्री नवग्रह यन्त्रम | Shri Navgrah Yantra

श्री नवग्रह यन्त्रम

श्री नवग्रह यंत्र एक मात्र ऐसा यंत्र है जो की  नो ग्रहो , नो दिशााओ  से हमारी रक्षा  करता है।  नो ग्रह हर व्यक्ति के साथ हमेशा  घूमते है, कौन  – सा ग्रह  किस व्यक्ति पर हावी हो जाए  ये किसी को भी नहीं पता  , इनमे से कुछ ग्रह , कुछ लोगो के लिए बड़े ही शुभ रहते है और  कुछ ग्रह उनकी कुंडली की हिसाब से  अशुभ होते है , इसीलिए शास्त्रों में  नवग्रह यंत्र की स्थापना हुई थी।  

श्री नवग्रह  यन्त्रम में सभी नौ ग्रहों की  विशेष  प्रकार की आकृति होती है जिसे नवग्रह  यन्त्रम कहा जाता है। सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहु, केतु इन नौ ग्रहों के यन्त्रम एक साथ अपनी-अपनी दिशाओं में विराजमान होते  हैं।

मनुष्य की सोच, उसके विचार , उसका  मन, और  उसके  मस्तिष्क को ये ग्रह  ही प्रभावित करते हैं।  प्राचीन काल के ज्योतिष शास्त्र में इस  यंत्र का प्रयोग  अलग – अलग  प्रकार के और ईश्वर के शरीरों की आकृति के सकारात्मक  ऊर्जा को आकर्षित करने के लिए किया जाता था। 

वैदिक ज्योतिष शास्त्र में ये यंत्र अपनी एक अलग ही प्रमुख महत्वता  रखता  हैं।  ये इतना अनोखा और दिव्य है की ये व्यक्ति को रातो – रात अमीर बना सकता है।  ये  यन्त्र इतना तेजस्वी है की   इस यंत्र  को अपने घर , दफ़्तर या फैक्ट्री में  रख लेने से अत्यंत लाभ प्राप्त होता हैं, ग्रहों के दोष समाप्त होते हैं। अच्छे ग्रहों का शुभ प्रभाव बढ़ता है।  

जीवन में सुख-समृद्धि और खुशहाली आती है। स्वास्थ्य संबंधित परेशानियाँ और ऋण में भी राहत प्रदान करता है।  व्यक्ति के जीवन में आ रही  मुश्किलों  और  कठिनाईयो को दूर कर सफलता प्राप्त करने में मदद करता है।  और जीवन में  सुख-समृद्धि और खुशहाली आती है।  

साथ ही  इस यंत्र  में  दुर्लभ , चमत्कारी , सिद्ध जड़ी बुटियो का मिश्रण हैं जो इसके प्रभाव को और भी  ज्यादा श्रेष्ठ बनाते   है ! और  इस यंत्र में से एक अदभुद  मनमोहक  खुशबु आती  है जो आपके घर – परिवार में  सुख – शांति – समृद्धी   प्रदान करती है

Shri Navgrah Yantra

Shri Navagrah  Yantra is the only such yantra that protects us from nine planets &, nine directions. These nine planets always roam with every person. No one knows which planet will dominate which person. Some of these planets are very auspicious for some people, and some planets are inauspicious according to their horoscope. This is why the Navagraha Yantra was established in the astrological scriptures.

All the nine planets in Sri Navagraha Yantra have a special shape called Navagraha Yantra. Sun, Moon, Mars, Mercury, Guru, Venus, Saturn, Rahu, Ketu, the yantra of these nine planets sit together in their respective directions.

These planets affect the thinking of man, his thoughts, his mind, and his brain. In ancient astrology, this yantra was used to attract positive energy of different types and the shape of the bodies of God.

In Vedic astrology, these yantras have their own special importance. It is so unique and divine that it can make a person rich overnight. This yantra is so stunning that by keeping this yantra in your home, office, or factory, you get immense benefits, the defects of the planets are eliminated. The auspicious effect of good planets increases.

It helps to bring happiness, and prosperity to our lives. It also provides relief in health-related problems and debts. Helps in achieving success by removing the difficulties in the person’s life. And brings happiness and prosperity.

The Yantra is a mixture of fragrance, rare, miraculous, astonishing herbs, which makes its effect, even better as well as this Yantra has a wonderful fragrance that bestows prosperity and peace in our lives.

Leave a Reply